GST से बढ़ रही है टैक्स देने वालों की संख्या,जल्द ही 1 करोड़ होने वाली है टैक्सपेयर्स की तादाद

GST से बढ़ रही है टैक्स देने वालों की संख्या,जल्द ही 1 करोड़ होने वाली है टैक्सपेयर्स की तादाद

By: Aryan Paul
January 11, 15:01
0
New Delhi: GST देने वालों की तादाद बढ़कर जल्द ही 1 करोड़ होने वाली है। जानकारी के मुताबिक, जुलाई 2018 तक टैक्सपेयर्स की संख्या 25 % तक और बढ़ जाएगी।

एक अधिकारी के मुताबिक, एक-दो दिन में ही 1 करोड़ टैक्सपेयर्स हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि सरकार 25 दिसंबर तक 99 लाख एंटिटीज को GST में रजिस्टर करवाने में सफल रही। इनमें 16.6 लाख एंटिटीज कंपोजिशन डीलर्स हैं, जिन्हें डीटेल इनवॉइस दिए बिना तिमाही रिटर्न फाइल करने की छूट है। अधिकारी के मुताबिक, जब जीएसटी लागू हुआ था तब करीब 80 लाख टैक्सपेयर्स थे। 

it

इनमें कई लोगों ने कई तरह के टैक्स पेमेंट के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। चूंकि एक कंपनी वैट, एक्साइज और सर्विस टैक्स के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकती है। इसलिए टैक्स का वास्तविक दायरा छोटा था। जानकारों का कहना है कि जून के आस-पास टैक्सपेयरों की संख्या घट सकती है जब रजिस्ट्रेशन का एक साल पूरा होने पर कुछ एंटिटिज बाहर हो जाएंगी। 

अपनी ही बायोपिक में कुछ इस तरह से नजर आएंगे संजय दत्त

gst

बता दें कि GST के बाद से ही टैक्सपेयर्स का दायरा बढ़ता जा रहा है, लेकिन बड़ी संख्या में रजिस्टर्ड टैक्सपेयर्स अपने ऊपर कोई लायबिलिटी नहीं दिखाकर जीरो टैक्स दे रहे हैं। चूंकि 40 प्रतिशत भरे गए रिटर्न में टैक्स देनदारी शून्य बताई जा रही है।

13 साल का होते ही पापा सैफ और मम्मी करीना से दूर हो जाएगा तैमूर, हैरान कर देने वाली है ये खबर

gst

ऐसे में कुछ हजार कंपनियों से ही टैक्स जमा किया जा रहा है। लेट पेमेंट पेनल्टी और रिटर्न फाइलिंग में अन्य छूट की वजह से सरकार की समस्याएं बढ़ गई हैं। बुधवार को रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख थी। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।